Spread the love

आज 12 मई, International Nurse Day है, और यहाँ भी भारतीयों ने दुनिया छाप छोड़ी है. 

आज दुनिया कोरोना महामारी से जूझ रहा है यैसे में दुनिया के देश भगवान् से दुआए कर रहे है तो कई उसी भगवन के दूत बन दूसरे देशो की मदद भी कर रहे है. Organisation of Economic Co-Operation and Development के मुताबिक दुनिया में सबसे ज्यादा मेडिकल स्टाफ और नर्से भारत से जाते है. 

World Health Organization एक रिपोर्ट के मुताबिक अकेले America, Britain, Golf Countries और Africa में 56000 नर्से इस कोरोनाकाल में मददगार बनी हुई है, सहकर्मियों में संक्रमण और फिर उनके मौत के बाद भी इनका हौसला कम नहीं हुआ और ये पूरी ईमानदारी से अपना कर्त्तव्य निभा रही है.

कुछ दिनों पहले स्वास्थ्य संकट का सामना कर रहे दुबई में भी 88 भारतीय नर्सो का एक ग्रुप वहा भेजा गया है. 

हलाकि World Health Organisation ने ये भी कहा जिस तरह से बेहतर विकल्प की तलाश में भारतीय नर्से, अन्य देशो का रुख कर रही है, भारत में इसकी खासी कमी देखने को मिल सकती  है. WHO के अनुसार ताज़ा आकड़ो के मुताबिक भारत में प्रति 1000 लोगो पर 1.7 नर्से है, जबकि ये संख्या प्रति 1000 लोगो पर 3 होनी चाइये।

जान का खतरा फिर भी कर रही सेवा

नर्सो को मरीजों के सबसे ज्यादा करीब और ज्यादा समय तक रहना पड़ता है, येसे में जो मरीज ज्यादा संक्रमित है उनसे संक्रमण का खतरा बहुत ज्यादा होता है, इसलिए दुनिया भर में स्वस्थ कर्मी भी इस भयंकर महामारी से अछूते नहीं है. 

एक रिपोर्ट के अनुसार भारत में 5 मई तक 548 स्वास्थकर्मी इस संक्रमण के चपेट में आ गए थे जिनमे से 274 नर्से तथा पैरा मेडिकल स्टाफ था। दुनियाभर में अब तक 90000 से ज्यादा Medical Staff इस संक्रमण के चपेट में है जिनमे से 300 लोगो की मौत हो चुकी है. 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Social Share Buttons and Icons powered by Ultimatelysocial